राष्ट्रीय ख़बरें

देश: जेएनयू VC जगदीश कुमार बोले- जो बीत गई उसे भुलाकर आगे बढ़ना चाहिए

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) हिंसा के बाद आरोप-प्रत्यारोप के बीच कुलपति एम जगदीश कुमार ने कहा है कि जो बीत गई वो बात गई। हमें उन्हें पीछे छोड़ देना चाहिए। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि मैं किसी भी व्यक्ति पर न तो उंगली उठाने की कोशिश कर रहा हूं और न ही आरोप लगाने की। अभी सबसे जरूरी है कि इस बात सुनिश्चित करें कि यूनिवर्सिटी सुचारू रूप से चल सके और हम आगे बढ़ें।

हाल में हुई हिंसा को लेकर कल यानी शनिवार को कुलपति ने छात्रों से भी बात की। बातचीत के बाद मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा था कि जेएनयू के हॉस्टल में कई छात्र अवैध तरीके से रह रहे हैं। ये बाहरी भी हो सकते हैं। इसकी संभावना है कि हिंसा में इन छात्रों का हाथ हो सकता है।

Jawaharlal Nehru University VC M Jagadesh Kumar: Whatever has happened has happened. Let us leave the past behind. We are not trying to raise finger at anyone or blame anyone. What is important for us is to make sure the University functions properly & we move forward #Delhi pic.twitter.com/AtLPsMpY6s

— ANI (@ANI) January 12, 2020

साथ ही उन्होंने कहा कि यूनिवर्सिटी में कुछ आंदोलनरत छात्रों ने दहशत फैलाने की कोशिश की। इस कारण से छात्रों को हॉस्टल छोड़कर जाना पड़ा। बीते कुछ समय से हमने कैंपस की सुरक्षा बढ़ा दी है। 

आइशी घोष पर भी हिंसा फैलाने का आरोप


ज्ञात हो कि दिल्ली पुलिस के सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, इस बीच मामले की जांच कर रही एसआईटी ने 60 सदस्यों वाले एक व्हाट्सऐप ग्रुप (यूनिटी अगेंस्ट लेफ्ट) के 37 लोगों की पहचान कर ली है। इससे पहले शुक्रवार को मीडिया से बात करते हुए 9 लोगों की पहचान की बात कही गई थी जिसमें, जेएनयूएसयू प्रेसिडेंट आइशी घोष का नाम भी शामिल था।

ये भी पढ़ें- JNU हिंसा मामले में दिल्ली पुलिस ने की 37 लोगों की पहचान: सूत्र

शुक्रवार को जेएनयू हिंसा मामले में दिल्ली पुलिस ने नौ संदिग्धों की तस्वीर जारी करके दावा किया था कि जेएनयू छात्रसंघ की अध्यक्ष आइशी घोष भी उनमें से एक थीं। पुलिस ने कहा कि नौ में से सात वामपंथी छात्र संगठनों से जुड़े हैं, जबकि दो अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीप) से जुड़े हैं।

हमलावरों के रूप में नाम लिए जाने के बाद जेएनयूएसयू अध्यक्ष आइशी घोष ने कहा कि मेरे पास भी सबूत हैं कि किस प्रकार मुझ पर हमला किया गया। उन्होंने कहा कि दिल्ली पुलिस के पास जो भी साक्ष्य हैं, उन्हें सार्वजनिक करना चाहिए।  

ABVP के भी छात्रों की भी पहचान


हिंसा में आइशी घोष के अलावा जिन छात्रों की पहचान हुई है उनमें चुनचुन कुमार, पंकज मिश्रा, योगेंद्र भारद्वाज, प्रिय रंजन, शिवपूजन मंडल, डोलन, सुचेता तालुकदार और वसकर विजय के नाम शामिल हैं। जेएनयू हिंसा मामले में कुल तीन एफआईआर दर्ज की गई हैं। पहला केस सर्वर रूम को नुकसान पहुंचाने का, दूसरा केस रजिस्ट्रेशन करवाने वाले छात्रों के साथ मारपीट करने का और तीसरा केस हॉस्टल में घुसकर हमला करने का है।

Express Your Reaction
Like
Love
Haha
Wow
Sad
Angry
You have reacted on "देश: जेएनयू VC जगदीश कुमार बोले- जो बीत गई उसे ..." A few seconds ago

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker