राष्ट्रीय ख़बरें

देश: 3 माह से खाली पड़ी है BJP के निष्कासित कुलदीप सिंह सेंगर की सीट

उत्तर प्रदेश विधान सभा सचिवालय ने जानकारी दी है कि उन्नाव जिले के बांगरमऊ जिस सीट से विधायक कुलदीप सिंह सेंगर चुने गए थे उसे 20 दिसंबर 2019 से रिक्त घोषित किया गया है। बता दें कि निष्कासित भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर 2018 उन्नाव बलात्कार मामले में दोषी हैं। 

गौरतलब है कि भारतीय जनता पार्टी के निष्कासित विधायक कुलदीप सेंगर को उन्नाव गैंग रेप केस में बीते साल उम्र कैद की सजा सुनाई गई थी। इसके अलावा कुलदीप पर 25 लाख रुपये जुर्माना भी लगा था। कुलदीप सेंगर को किडनैपिंग और बलात्कार का दोषी पाया गया है। सजा पर बहस के दौरान सीबीआई ने कोर्ट से अधिकतम सजा की मांग की। 16 दिसंबर को दिल्ली की तीस हजारी अदालत ने सेंगर को धारा 376 और पॉक्सो के सेक्शन 6 के तहत दोषी ठहराया था। जबकि 17 दिसंबर को सजा पर बहस की गई थी। इसके बाद कोर्ट ने अगली सुनवाई से पहले कुलदीप सिंह सेंगर को अपनी आय और संपत्ति का पूरा ब्योरा देने का आदेश दिया था।

Uttar Pradesh Legislative Assembly Secretariat: The seat from where MLA Kuldeep Singh Sengar was elected from – Bangarmau of Unnao district, is declared vacant from 20th December 2019 onward.

Expelled BJP MLA Kuldeep Singh Sengar is a convict in 2018 Unnao rape case.(file pic) pic.twitter.com/ZToxCp95sn

— ANI UP (@ANINewsUP) February 25, 2020

उधर, पीड़िता के वकील ने कहा कि उन्नाव की पीड़िता का घर पूरी तरह से टूट गया है। इसके अलावा पीड़िता के पिता के पास 3 भाइयों के बीच कुल 3 बीघा जमीन है। पीड़िता के वकील ने कहा कि विधायक ने अपने अपराध को छुपाने के लिए न सिर्फ केस को वापस लेने का दवाब बनाया बल्कि विधायक होकर ऐसा काम किया। अगर देश को चलाने वाले लोग जिनपर जनता की रक्षा का दायित्व है, वो ऐसा करेंगे तो फिर उनको सज़ा भी अधिकतम होनी चाहिए।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker