चम्पावत

फल और फसलों की खेती के लिए क्लस्टर तैयार करें

डीएम एसएन पांडेय ने फलों और फसलों के लिए उपयुक्त भूमि को चिन्हित कर कलस्टर तैयार करने के निर्देश दिए हैं। इसके लिए उन्होंने जलवायु का आकलन और मिट्टी का परीक्षण करने को कहा है। इसके अलावा उन्होंने ग्रोथ सेंटर के जरिए काश्तकारों के उत्पादों का विपणन करने के निर्देश दिए हैं। मंगलवार को कलक्ट्रेट में आयोजित कृषि, उद्यान, भेषज, चाय बोर्ड और जलागम की समीक्षा बैठक में डीएम ने किसानों की आर्थिक स्थिति में सुधार लाने के लिए कार्य करने को कहा। उन्होंने पावर ट्रिलर, पावर विडर के साथ ही अन्य कृषि उपकरण देने के लिए किसानों का चयन करने और प्रशिक्षण देने के निर्देश दिए। डीएम ने जंगलों को बचाने के लिए चारा विकास योजना को प्रोत्साहन देने को कहा। उन्होंने सभी विभागों को प्रशिक्षण के लिए मिली धनराशि से सामुहिक प्रशिक्षण प्लान तैयार करने के निर्देश दिए। डीएम ने वर्मी और बॉयो कंपोस्ट की मार्केटिंग करने को कहा।मुख्य कृषि अधिकारी राजेंद्र उप्रेती ने बताया कि पावर विडर के लिए किसानों का चयन कर लिया गया है। बताया कि जैविक कृषि को बढ़ावा देने को हर ब्लॉक में एक-एक जैविक मास्टर ट्रेनर की तैनाती की गई है। डीएम ने कृषि, औद्यानिक क्षेत्र, जड़ी बूटी और आजीविका विकास के लिए जीपीएस से निगरानी करने को कहा। टी बोर्ड के प्रबंधक डेसमंड ने बताया कि वर्तमान में 21 स्थानों में 220 हेक्टेयर क्षेत्र में चाय बागान विकसित किए गए हैं। बैठक में डीएचओ अधिकारी एनके आर्या, डीईओ माध्यमिक डीएस राजपूत, आपदा प्रबंधन अधिकारी मनोज पांडेय मौजूद रहे।

Express Your Reaction
Like
Love
Haha
Wow
Sad
Angry
फल और फसलों की खेती के लिए क्लस्टर तैयार करें 1
You have reacted on "फल और फसलों की खेती के लिए क्लस्टर तैयार करें" A few seconds ago

Show More

Related Articles

Back to top button
Close
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker